कंगना के खिलाफ मुंबई पुलिस ने ड्रग्स मामले की शुरू की जांच , तो अब रनौत के निशाने पर सोनिया गांधी

0
37

महाराष्ट्र सरकार और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रणौत के बीच तनातनी जारी है। मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ ड्रग्स मामले में जांच शुरू कर दी है। मुंबई पुलिस को मामले की जांच के लिए महाराष्ट्र सरकार से आधिकारिक तौर पर पत्र मिला है।

राज्य के मंत्री अनिल देशमुख ने कंगना रणौत के ड्रग्स मामले को उठाया था। उन्होंने कंगना के एक्स बॉयफ्रेंड और एक्टर अध्ययन सुमन के एक पुराने इंटरव्यू के आधार पर इस मामले को उठाया। अध्ययन सुमन ने अपने उस इंटरव्यू में कंगना के ड्रग्स लेने का दावा किया था।
कंगना को मिलना चाहिए मुआवजा: रामदास अठावले
केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले, ‘मैं मुंबई में कंगना रणौत की संपत्ति को तोड़े जाने के मुद्दे पर आज महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिला और मांग की कि उन्हें नुकसान का मुआवजा मिलना चाहिए। जिस तरह से बीएमसी ने उनकी संपत्ति पर तोड़फोड़ की है, वह गलत है। उन्हें न्याय मिलना चाहिए।’

कंगना पूरी तैयारी के साथ ट्वीटर पर मोर्चा खोले हुए है. इस बार कंगना से सोनिया गांधी से सवाल किया है. अभिनेत्री ने ट्वीट किया है भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष प्रिय सोनिया गांधी जी, आपकी महाराष्ट्र सरकार एक महिला के साथ जो कर रही है, क्या एक महिला होने के नाते आपको अपनी इस सरकार की इस करतूत पर दुख नहीं होता है. आगे उन्होंने लिखा है कि क्या आप अपनी सरकार से बाबा अंबेडकर द्वारा हमारे लिये बनाये गये संविधान को बनाये रखने का अनुरोध कर सकते हैं. ट्वीट के साथ कंगना ने बाला साहेब का पुराना वीडियो शेयर किया है और साथ में लिखा है कि ग्रेट बाला साहब मेरे फेवरिट आइकन थे.

IFRAME SYNC

शिवसेना पर किया था हमला

बता दे कि इससे पहल भी कंगना ने ट्वीट कर शिवसेना पर तीखा प्रहार किया था और कहा था कि जिस विचार धारा के साथ बाला साहेब ठाकरे से शिवसेना का निर्माण किया था, पार्टी उस विचारधारा को छोड़कर ‘शवसेना’ बन गयी है. वही कंगना के समर्थन में बोलते हुए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कंगना के घर और दफ्तर पर कार्रवाई को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर निशाना साधते हुए सीएम ने कहा कि जिस तरह कंगना पर एफआईआर दर्ज की जा रही है, उससे साफ है कि कंगना को परेशान किया जा रहा है.

महाराष्ट्र सरकार का हो रहा विरोध

कंगना के ट्वीट एक नेता के गलत बयानबाजी की प्रतिक्रिया भर हैं. शिवसेना के नेता गलत शब्दों का इस्तेमाल करने के बाद वहां की सरकार ताकत का दुरुपयोग कर कंगना को परेशान कर देश और हिमाचल की बेटी का अपमान कर रही है. हिमाचल सरकार की जिम्मेदारी है कि उनकी सुरक्षा हो. वहीं, प्रदेश भर में कंगना रनौत के समर्थन में भाजपाने जगह-जगह महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किए, पुतले फूंके, नारेबाजी की.

इस तरह शुरु हुआ विवाद

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद वंशवाद के खिलाफ खुलकर बोल रही कंगना रनौत ने अब महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. कंगना और महाराष्ट्र सरकार के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने दावा किया था कि वह मुंबई में असुक्षित महसूस करती हैं.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद वंशवाद के खिलाफ खुलकर बोल रही कंगना रनौत ने अब महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. कंगना और महाराष्ट्र सरकार के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने दावा किया था कि वह मुंबई में असुक्षित महसूस करती हैं.

हमारे google news पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  Twitter पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  और Facebook पेज को भी फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे