पीठ पीछे हमला करने पर कंगना रनौत का ट्वीट “उद्धव डरा शेरनी से”, बीएमसी से राज्यपाल नाराज, उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ केंद्र को भेजेंगे रिपोर्ट

0
18

बुधवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के मुंबई पहुंचने से पहले उनके ऑफिस में 20 से अधिक बीएमसी के लोग फावड़ा, हथौड़ा और जेसीबी मशीन लेकर पहुंच गए थे. उन्होंने ऑफिस में घुसकर अवैध कार्यवाही के नाम पर तोड़ फोड़ शुरू कर दी थी. बीएमसी की इस कार्रवाई का कई लोगों ने जमकर विरोध किया. तो वहीं लोगों का अपने लिए प्यार और समर्थन देखकर एक्ट्रेस ने उनके लिए आभार व्यक्त किया.

कंगना ने ट्वीट कर लिखा, मैं अपनी मुंबई में हूं, अपने घर में हूं मुझपे वार भी हुआ तो पीठ पीछे जब मैं फ़्लाइट में थी, सामने नोटिस देने की या वार करने की हिम्मत नहीं है मेरे दुश्मनों में ये जानकर अच्छा लगा, बहुत लोग मुझे पहुंचाई हुई हानि से दुखी और चिंतित हैं मैं उनके आशीर्वाद और स्नेह की आभारी हूं

बता दें कि कुछ देर के बाद हाई कोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर स्‍टे लगा दिया. आज इस मामले में कोर्ट फिर से सुनवाई करेगा. वहीं, कंगना ने आज सुबह एक तसवीर शेयर की है. कंगना ने इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा, ये मेरी सबसे खूबसूरत तस्वीरों में से एक है. ये फोटो मेरे आश्रम ईशा योगा सेंटर पर ली गई है. कुछ भी प्लानड नहीं था. ये एकदम से क्लिक की गई तस्वीर है. लेकिन कहीं ना कहीं ये फोटो बेहद खूबसूरत ट्रांजिशन को दर्शाती है.

गौरतलब है कि कंगना ने अपने ऑफिस को तोड़ने की घटना को राम मंदिर तोड़ने की घटना जैसा करार दिया. अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर पोस्ट किया कि मणिकर्णिका फिल्म्स में पहली फ़िल्म अयोध्या की घोषणा हुई, यह मेरे लिए इमारत नहीं राम मंदिर ही है. आज वहां बाबर आया है. आज इतिहास फिर खुद को दोहराएगा. राम मंदिर फिर टूटेगा लेकिन याद रख बाबर यह मंदिर फिर बनेगा. यह मंदिर फिर बनेगा. जय श्री राम.’


कंगना रनौत ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि “जिस विचारधारा पर श्री बाला साहेब ठाकरे ने शिवसेना का निर्माण किया था आज वो सत्ता के लिए उसी विचारधारा को बेच कर शिवसेना से सोनिया सेना बन चुकी है, जिन गुंडों ने मेरे पीछे से मेरा घर तोड़ा उनको सिविक बॉडी मत बोलो, संविधान का इतना बड़ा अपमान मत करो।”

इससे पहले कंगना रनौत ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि ‘तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे, मगर मेरी आवाज मेरे बाद सौ फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाजें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हो, सिर्फ वंशवाद का एक नमूना हो।’

वहीं, मुंबई पहुंचते ही कंगना रनौत ने एक वीडियो पोस्ट के जरिये महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा और बीएमसी की ओर से उनके ऑफिस पर तोड़फोड़ पर नाराजगी जतायी. कंगना ने कहा, उद्धव ठाकरे, तुझे क्या लगता है, तुने फिल्म माफिया से मिलकर मेरा घर तोड़कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है. आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा.

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस पर बीएमसी की ओर से बुलडोजर चलाए जाने के बाद उद्धव ठाकरे सरकार की चारों तरफ आलोचना हो रही है। सरकार में सहयोगी एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने भी इस पर अपना विरोध जताया है। इस बीच प्रदेश के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भी मामले पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने इसे लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के प्रमुख सलाहकार अजॉय मेहता को तलब किया है।

 
कंगना मसले पर राज्यपाल कोश्यारी सक्रिय


इस मामले में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी सक्रिय हो गए हैं और उन्होंने उद्धव ठाकरे के मुख्य सलाहकार अजॉय मेहता से चर्चा की। राज्यपाल ने कार्रवाई पर नाराजगी जताई है। अजॉय मेहता ने कहा कि वो सीएम उद्धव ठाकरे को जानकारी दे देंगे।वहीं, राज्यपाल कोश्यारी इस विषय पर केंद्र को एक रिपोर्ट देने वाले हैं। गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे के सीएम की कुर्सी पर बैठने के बाद से ही गवर्नर कोश्यारी और उनके रिश्ते बेहत तनावपूर्ण रहे हैं।

कंगना पर दर्ज हुआ मुकदमा


कंगना रनौत को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से पंगा लेना मंहगा पड़ता हुआ नजर आ रहा है। विक्रोली पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ शिकायत की गई है। शिकायतकर्ता का कहना है कि अभिनेत्री ने मुख्यमंत्री ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया है। इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

शिवसेना का नहीं है कोई लेना-देना: राउत
शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, कंगना रनौत के कार्यालय पर कार्रवाई बीएमसी द्वारा की गई है। इसका शिवसेना से कोई संबंध नहीं है। आप इस पर मेयर या बीएमसी आयुक्त से बात कर सकते हैं।

मंबई पुलिस आयुक्त ने शरद पवार के साथ की बैठक


वहीं, मुंबई पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह ने आज एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की। यह बैठक मुंबई के वाई बी चव्हाण केंद्र में करीब 20 मिनट तक चली। बैठक में किन बातों पर चर्चा हुई, उसकी जानकारी अभी नहीं मिल पाई है। यह बैठक ऐसे समय में हुई, जब हाल में कई दिग्गज नेताओं को धमकी भरे फोन कॉल आए हैं।

हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने किया समर्थन


हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी कंगना के समर्थन में उतर गए हैं। जयराम ठाकुर ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि ‘हम हिमाचल की बेटी का अपमान सहन नहीं कर सकते। महाराष्ट्र सरकार ने हिमाचल की बेटी कंगना रनौत के साथ जो राजनीतिक प्रतिशोध की भावना से अत्याचार किया है यह अत्यंत चिंताजनक एवं निंदनीय है। हमारी सरकार व देश की जनता इस घटनाक्रम में हिमाचल की बेटी कंगना के साथ खड़ी है।’

हमारे google news पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  Twitter पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  और Facebook पेज को भी फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे