अभिनेत्री कंगना रनौत पर दर्ज होगा राजद्रोह का केस, उनके ऊपर लगा ड्रग सेवन का आरोप, जांच करेगी पुलिस, महाराष्ट्र सरकार का आदेश

0
25

क्या सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में मुखर होकर फंस गईं हैं अभिनेत्री कंगना रनौत ? दरअसल शिवसेना आईटी सेल ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ ठाणे के श्रीनगर पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें मुंबई की तुलना पीओके से करने के लिए राजद्रोह’ के आरोप के तहत केस दर्ज करने की मांग की गई है. इधर रनौत को केंद्र ने सोमवार को ‘वाई-प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा दी.

कंगना की टिप्पणियों के चलते उनकी शिवसेना सांसद संजय राउत से बहस हो गयी थी. कंगना ने कहा था कि सुशांत की मौत और फिल्म उद्योग के एक वर्ग में मादक पदार्थों के इस्तेमाल के बारे में बोलने के चलते वह मुंबई में असुरक्षित महसूस करने लगी हैं. इसके बाद केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने कंगना को वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध करायी. अब करीब 11 सशस्त्र कमांडो चौबीस घंटे कंगना की सुरक्षा में तैनात रहेंगे. शिवसेना ने इसे राजनीति बताया है. वहीं, कंगना ने खुद को वाई-प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिलने पर गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया है. इधर, बीएमसी ने कंगना की प्रोडक्शन कंपनी के ऑफिस में छापा मारा है.

कंगना ने इसकी जानकारी देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि मेरा जिंदगी में एक ही सपना था, मैं जब भी फिल्म निर्माता बनूं, मेरा खुद का ऑफिस हो, मगर लगता है ये सपना टूटने का वक्त आ गया है. बीएमसी ने कंगना पर अवैध निर्माण का आरोप लगाया है. संजय राउत ने इस पर केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि महाराष्ट्र की छवि बिगाड़ने की कोशिश की गयी है.

IFRAME SYNC

वहीं, महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कुछ लोग उस शहर के प्रति कृतज्ञ नहीं हैं जहां से वे अपना रोजगार, काम धंधा शुरू करते हैं. महाराष्ट्र सरकार में मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कंगना को भाजपा का ‘तोता’ बताया. कहा कि केंद्र ने महाराष्ट्र के खिलाफ की गयी उनकी टिप्पणी का समर्थन किया है.

कंगना के ड्रग सेवन की जांच करेगी पुलिस, महाराष्ट्र सरकार का आदेश

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। कंगना के मुंबई को लेकर दिए गए बयान की वजह से उनके और महाराष्ट्र सरकार के बीच तल्खियां बढ़ गई हैं। महाराष्ट्र सरकार ने फैसला किया है कि वह कंगना के ड्रग कनेक्शन की जांच करेगी। सूबे के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इसकी पुष्टि की है। 

देशमुख ने कहा है कि विधायक सुनील प्रभु और प्रताप सरनाईक द्वारा प्रस्तुत अनुरोध के अनुसार, मैंने विधानसभा में जवाब दिया और कहा कि कंगना रनौत के संबंध अध्ययन सुमन के साथ थे, जिन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि वह ड्रग्स लेती हैं और उन्हें मजबूर भी करती हैं। मुंबई पुलिस इस मामले पर गौर करेगी। 

दरअसल, शिवनेता नेता सुनील प्रभु और प्रताप ने अध्ययन सुमने के एक पुराने साक्षात्कार की एक कॉपी महाराष्ट्र सरकार को सौंपी। जिसमें सुमन ने कंगना पर आरोप लगाया था कि वह ड्रग का सेवन करती हैं और उन्हें भी जबरदस्ती इसका सेवन कराया था। इसी के आधार पर अब सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। 

गौरतलब है कि कल ही महाराष्ट्र कांग्रेस ने कंगना रनौत से जुड़े ड्रग लिंक्स की जांच की मांग की थी। कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा था कि कंगना के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें अभिनेत्री ने स्वीकार किया है कि वह ड्रग का सेवन करती हैं। अगर ये बात सच है तो उन्हें ड्रग की सप्लाई कौन करता था। एनसीबी को कंगना से जुड़े मामले की भी जांच करनी चाहिए। 


कंगना मनाली स्थित अपने घर से निकलीं


कंगना रनौत हिमाचल प्रदेश के मनाली स्थित अपने घर से निकल चुकी हैं। इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि वह शिवसेना नेता संजय राउत के बयान पर कुछ कहना चाहती हैं तो उन्होंने कहा कि वह फिलहाल कुछ नहीं कहना चाहती हैं। गौरतलब है कि राउत ने कंगना के मुंबई पुलिस को लेकर दिए बयान पर उनकी आलोचना करते हुए कहा था कंगना मुंबई में रहती हैं, इसके बावजूद शहर के पुलिस बल की आलोचना करना विश्वासघात और शर्मनाक है। 
 

 
कल मुंबई जाएंगी कंगना


कंगना रनौत ने कल मुंबई जाने का फैसला किया है। अभिनेत्री ने पहले ही कहा था कि वह 9 सितंबर को मुंबई जा रही हैं। गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा था कि कई लोग मुझे धमकी दे रहे हैं कि मैं मुंबई न आऊं। मैं 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं। अगर किसी के बाप में दम हो तो रोक ले। जल्द ही मैं मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचने का समय भी बताऊंगी। 
शिवसेना ने कंगना के खिलाफ राजद्रोह की शिकायत दर्ज करने की मांग की
शिवसेना ने कंगना रनौत के खिलाफ ठाणे के श्रीनगर पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज कराई है। ये शिकायत कंगना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) की तुलना मुंबई से करने को लेकर की गई है। पार्टी ने उनके खिलाफ राजद्रोह के आरोप के तहत एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। 


बीएमसी ने कंगना के बंगले पर अवैध निर्माण का नोटिस चिपकाया


बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के अधिकारियों ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई स्थित बंगले के बाहर एक नोटिस चिपकाया है, जिसमें कहा गया है कि नगर निकाय की मंजूरी के बिना इसमें कई बदलाव किए गए हैं। नगर निकाय के एक अधिकारी ने बताया कि बीएमसी की टीम उपनगर बांद्रा में अभिनेत्री के पाली हिल बंगले गई थी। वहां नोटिस लेने वाला कोई नहीं था, जिस वजह से नोटिस को वहां चिपका दिया गया।

अधिकारी ने बताया कि नोटिस में बंगले में एक दर्जन से ज्यादा बदलावों को रेखांकित किया गया है, जैसे कि शौचालय को कार्यालय के कैबिन में तब्दील किया गया है, जबकि सीढ़ियों के साथ नया शौचालय बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि बीएमसी ने रनौत से 24 घंटे में इसका जवाब देने को कहा है। उनसे नगर निकाय को यह जानकारी देने को कहा गया है कि इस निर्माण को लेकर क्या उन्होंने कोई मंजूरी ली है?

रनौत ने उनके कार्यालय परिसर में बीएमसी के अधिकारियों की मौजूदगी का वीडियो सोमवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया था और कहा था कि वे उनके कार्यालय को ध्वस्त कर सकते हैं। हालांकि, बीएमसी ने कहा कि उसके अधिकारियों का दौरा उपनगरीय इलाके बांद्रा में अवैध निर्माण पर निगरानी रखने की उनकी नियमित प्रक्रिया का हिस्सा था। रनौत ने कहा था कि उन्होंने अपनी संपत्ति में कुछ भी अवैध नहीं किया और बीएमसी से कहा था कि वह नोटिस में बताए कि कौन सा अवैध निर्माण है।


क्या है पूरा मामला

दरअसल कंगना रनौत और शिवसेना सांसद संजय राउत के बीच कुछ दिनों से जुबानी जंग जारी है। ऐसे में कंगना ने कहा था कि उन्हें बॉलीवुड माफिया से ज्यादा मुंबई पुलिस से डर लगता है। इसपर राउत ने कहा था कि यदि उन्हें मुंबई में डर लगता है तो उन्हें वापस नहीं आना चाहिए। पलटवार करते हुए अभिनेत्री ने कहा था कि मुंबई पीओके है क्या।

कंगना ने तीन सितंबर को ट्वीट कर कहा था, ‘शिवसेना नेता संजय राउत ने मुझे खुली धमकी दी है और मुंबई वापस न आने के लिए कहा है। पहले मुंबई की सड़कों पर आजादी के नारे लगे और अब खुली धमकी मिल रही है। आखिर मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) जैसा क्यों महसूस कर रही है?’

इसके बाद राउत ने कंगना के बयान की शिवसेना के मुखपत्र सामना में आलोचना करते हुए लिखा था कि अभिनेत्री मुंबई में रहती हैं, इसके बावजूद शहर के पुलिस बल की आलोचना करना विश्वासघात और शर्मनाक है। उन्होंने लिखा था, ‘हम विनम्र निवेदन करते हैं कि वे मुंबई न आएं। यह मुंबई पुलिस का अपमान करने के अलावा और कुछ नहीं है। गृह मंत्रालय को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए।’

मुंबई पुलिस ने सीबीआई को ट्रांसफर किया केस

इधर अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने सुशांत की बहन और आरएमएल अस्पताल दिल्ली के डॉक्टर तरुण के खिलाफ बांद्रा पुलिस स्टेशन में जो शिकायत दर्ज कराई थी, उसे मुंबई पुलिस ने सीबीआई को ट्रांसफर किया. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती ने मुंबई पुलिस में एक केस दर्ज कराकर राजपूत की बहन प्रियंका सिंह और दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यरत डॉ तरुण कुमार के खिलाफ जालसाजी तथा दवाओं का ‘फर्जी’ नुस्खा तैयार करने का आरोप लगाया है. रिया ने अपनी शिकायत में कहा कि राजपूत को बाइपोलर डिसऑर्डर होने का पता चला था और उनका अनेक अन्य मानसिक सेहत संबंधी समस्याओं के लिए इलाज चल रहा था.

हमारे google news पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  Twitter पेज को फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे  और Facebook पेज को भी फॉलो करने के लिए यहाँ क्लिक करे